आलू की बाकरबड़ी
  • 487 Views

आलू की बाकरबड़ी

गुजरात में 2 तरह की बाकरबड़ी बनाई जाती हैं. मसाला भरकर बनाई जाने वाली बाकर बड़ी (Bakarwadi) और आलू में मसाले मिलाकर भरकर बनाई जाने वाली आलू बाकरवडी. मसाला भरकर बनाई बाकर बड़ी को एक माह तक रखा जा सकता है जबकि आलू की बाकरबड़ी की शेल्फ लाइफ सिर्फ एक दिन होती है. बाकरवडी के कुरकुरी परत के अन्दर मसालेदार आलू का मुलायम स्वाद बहुत स्वादिष्ट होता है.

आवश्यक सामग्री -
आटा लगाने के लिये

  • मैदा -  150 ग्राम  (1 1/2 कप)
  • बेसन - 50 ग्राम ( 1/2 कप)
  • तेल   -  50 ग्राम ( 1/4 कप)
  • नमक- स्वादानुसार ( आधा छोटी चम्मच)

पिठ्ठी बनाने के लिये

  • आलू - 250 ग्राम (3-4 मीडियम साइज के उबाले हुये)
  • तेल - 1 टेबल स्पून
  • हींग - 1 पिंच
  • जीरा - आधा छोटी चम्मच
  • राई - आधा छोटी चम्मच
  • सफेद तिल - 1 टेबल स्पून
  • हल्दी पाउडर - 1/4 छोटी चम्मच
  • धनियां पाउडर - 1 छोटी चम्मच
  • लाल मिर्च - 1/4 छोटी चम्मच से कम
  • नमक -  स्वादानुसार 1/2 छोटी चम्मच
  • गरम मसाला - 1/4 छोटी चम्मच से कम
  • हरा धनियां - 1 टेबल स्पून बारीक कतरा हुआ

विधि -

आलू बाकरवडी के लिये आटा लगाईये


मैदा और बेसन को किसी बर्तन में छान कर निकाल लीजिये, 2-3 टेबल स्पून सूखा मैदा बचाकर रख लीजिये. बचा हुआ मैदा में नमक और तेल डाल कर अच्छी तरह मिला लीजिये.

थोड़ा थोड़ा पानी डालते हुये पूरी के जैसा सख्त आटा गूथ लीजिये. आटे को ढककर 20 मिनिट के लिये रख दीजिये ताकि आटा सैट हो जाय. जब तक आटा सैट होता है, हम आलू की पिठ्ठी बनाकर तैयार कर लेते है.
 

आलू बाकरवडी के लिये पिठ्ठी बनाईये -

आलू को छील कर, बारीक फोड़ लीजिये. कढ़ाई में तेल डालकर गरम कीजिये, गरम तेल में हींग और जीरा डालिये, जीरा हल्का सा भुनने के बाद, राई डालिये, राई तड़कने के बाद तिल डालिये, तिल हल्के ब्राउन हो जायं तब हल्दी पाउडर, धनियां पाउडर डालकर हल्का सा भूनिये, अब आलू डालिये, लाल मिर्च, नमक और गरम मसाला भी डाल दीजिये. मसाले के साथ आलू को भूनिये और अच्छी तरह मैस करके मिला दीजिये. पिठ्ठी तैयार है, पिठ्ठी में हरा धनियां भी डालकर मिला दीजिये.
 

आलू बाकरवडी बनाईये-

गुथे आटे को 3 भागों में बांट लीजिये, एक भाग को उठाइये, मसल कर चपटा करके लोई बना लीजिये.  लोई को चकले पर रखिये और परांठा जैसा पतला 8-10 इंच के व्यास में वेल लीजिये. बेले हुयी पूरी के ऊपर आलू की पिठ्ठी के 3-4 टेबल स्पून रखिये और पूरी के सभी ओर से थोड़े से किनारे छोड़ते हुये, चम्मच से पिठ्ठी को दबाते हुये चारों तरफ पतला बिछा दीजिये.

पूरी के ऊपर पिठ्ठी लगाने के बाद पूरी को एक तरफ से उठाते हुये मोड़िये और रोल बना लीजिये. दोनों खुले किनारे हाथ से दबाकर बन्द कर दीजिये.

रोल को आधा या पोना इंच के टुकड़े करते हुये काट लीजिये. सारे टुकड़े काटने के बाद, बाकर बड़ी का एक टुकड़ा उठाइये और उसके दोंनो किनारे पर सुखा मैदा या बेसन लगाकर उंगलियों के सहारे से अच्छी तरह चिपका दीजिये, ताकि आलू की पिठ्ठी बाकर बड़ी तलते समय तेल में बाहर न निकलें. सारे बाकर बड़ी को इसी तरह मैदा या बेसन लगाकर रख लीजिये. बाकर बड़ी तलने के लिये तैयार है.

बाकर बड़ी तलने के लिये कढ़ाई में तेल डालकर गरम कीजिये, तेल अच्छी तरह गरम होने पर बाकर बड़ी गरम तेल में डालिये, जितनी बाकर बड़ी एक बार तेल में डाली जा सकें डाल दीजिये. मध्यम और धीमी आग पर बाकर बड़ी को सब तरफ से ब्राउन होने तक तल कर निकाल लीजिये. सारी बाकर बड़ी इसी तरह तल कर निकाल लीजिये.

खस्ता कुरकुरी आलू बाकर बड़ी (Aloo Bakarwadi)  तैयार है, हरी चटनी या मीठी चटनी के साथ गरमा गरम बाकर बड़ी परोसिये और खाइये, आलू बाकर बड़ी को गरमा गरम खाकर खतम कर दीजिये.