लिट्टी चोखा
  • 1027 Views

लिट्टी चोखा

लिट्टी चोखा बिहार झारखन्ड में खायी जाने वाली पारम्परिक स्वादिष्ट डिश हैं इसे आप लन्च, डिनर या छुट्टी के दिन बना कर खाइये बहुत ही अच्छी लगेगी, लिट्टी देखने में तो बाटी जैसी लगती है, लेकिन थोड़ा सा अन्तर है. इसके अन्दर भरी जाने वाली पिठ्ठी सत्तू से बनाई जाती है और यह लिट्टी बैगन के चोखा (भुर्ता) या आलू के चोखा के साथ खाई जाती है.  मिक्स वेज चोखा और टमाटर की चटनी भी साथ में बनायी जाता है. तो आइये बनाना शुरू करें लिट्टी चोखा (Litti Choka).

आवश्यक सामग्री-

  • आटा लगाने के लिये
  • गेहूं का आटा - 400 ग्राम ( 4 कप)
  • अजवायन - आधा छोटी चम्मच
  • घी या तेल - आधा कप
  • खाने का सोडा - 1/3 छोटा चम्मच
  • नमक - 3/4 छोटी चम्मच

पिठ्ठी बनाने के लिये Ingredients for stuffing

  • सत्तू - 200 ग्राम (2 कप)
  • अदरक - 1 इंच लम्बा टुकड़ा
  • हरी मिर्च - 2-4
  • हरा धनियां - आधा कप बारीक कतरा हुआ
  • जीरा - 1 छोटी चम्मच
  • सरसों का तेल - 2 छोटी चम्मच
  • अचार का मसाला - 2 टेबल स्पून
  • नीबू - 1 नीबू का रस
  • काला नमक - आधा छोटी चम्मच
  • नमक - स्वादानुसार ( 1/4 छोटी चम्मच )

आवश्यक सामग्री -

चोखा को पारम्परिक तरीके से चौखा सिर्फ हरी मिर्च और नमक डालकर बनाया जाता है, टमाटर, अदरक और हरा धनियां डालकर चोखा और भी स्वादिष्ट लगता है.

  • बड़ा बैगन - 400 ग्राम (1 या 2 बैगन)
  • टमाटर - 250 ग्राम ( 4 टमाटर मध्यम आकार के)
  • हरी मिर्च - 2-4 (बारीक कतरी हुई)
  • अदरक - 1 1/2 इंच लम्बा टुकड़ा ( बारीक कतरा हुआ)
  • हरा धनियां - 2 टेबल स्पून ( बारीक कतरा हुआ)
  • नमक - स्वादानुसार ( एक छोटी चम्मच)
  • सरसों का तेल - 1-2 छोटी चम्मच

विधि -

लिट्टी के लिये आटा लगाइये
आटे को छान कर बर्तन में निकालिये, आटे में घी, खाने का सोडा, अजवायन और नमक डाल कर अच्छी तरह मिला लीजिये, गुनगुने पानी की सहायता से नरम आटा गूथ लीजिये.  गुथे हुये आटे को ढककर आधा घंटे के लिये ढककर रख दीजिये.  लिट्टी बनाने के लिये आटा तैयार है.

पिठ्ठी तैयार कीजिये-
अदरक को धोइये, छीलिये और बारीक टुकड़ों में काट लीजिये (कद्दूकस भी कर सकते हैं).  हरी मिर्च के डंठल तोड़िये, धोइये और बारीक कतर लीजिये.  हरा धनियां को साफ कीजिये, धोइये बारीक कतर लीजिये. सत्तू को किसी बर्तन में निकालिये, कतरे हुये अदरक, हरी मिर्च, धनियां, नीबू का रस, नमक, काला नमक, जीरा, सरसों का तेल और अचार का मसाला मिला लीजिये, अगर पिठ्ठी सूखी लग रही है तो 4-5  टेबल स्पून डालिये, पिठ्ठी को इतना गीला करना है कि वह, लड्डू बांधने पर बंध जाय, सभी चीजों को अच्छी तरह मिला लीजिये, सत्तू की पिठ्ठी तैयार है.

लिट्टी -
गुथे हुये आटे से मध्यम आकार की लोइयां बना लीजिये.  लोई को अंगुलियों की सहायता से 2-3 इंच के व्यास में बड़ा कर लीजिये, कटोरी जैसा बना लीजिये, इस पर 1 - 1 1/2 छोटी चम्मच पिठ्ठी रखिये और आटे को चारो ओर से उठा कर बन्द कीजिये और गोल कर लीजिये, गोले को हथेली से दबा कर थोड़ा चपटा कीजिये, लिट्टी सिकने के लिये तैयार है.

तंदूर को गरम कीजिये, भरी हुई लोइयों को तंदूर में रखिये और पलट पलट कर ब्राउन होने तक सेकिये.  (पारम्परिक रूप से  लिट्टी उपले पर सेकीं जाती है)

चोखा-
बैगन और टमाटर धोइये और भून लीजिये, ठंडा कीजिये, छिलका उतार लीजिये, किसी प्याले में रख कर चमचे से मैस कीजिये, कतरे हुये मसाले और नमक, तेल डाल कर अच्छी तरह मिलाइये. लीजिये बैगन का चोखा तैयार है.
आप लहसुन और प्याज पसन्द करते है तब 5-6 लहसन की कली छीलिये बारीक कतरिये और एक प्याज छीलिये, बारीक कतरिये इन्हैं भी इस बैगन में मिला लीजिये.

आलू का चोखा (Aloo ka Chikha)
उबले आलू 4-5 छील कर बारीक तोड़ लीजिये, कतरे हुये अदरक, हरी मिर्च, हरे धनिये, लाल मिर्च, नमक मिलाइये, आलू का चोखा तैयार है.

परोसिये-
चोखा प्याले में डालिये, गरमा गरम लिट्टी को पिघले हुये घी में डुबाइये, लिट्टी को बीच से तोड़ कर भी घी में डुबाया जा सकता है,  चोखा के साथ, हरी धनिये की चटनी के साथ परोसिये और खाइये.

  •     चार सदस्यों के लिये
  •     समय - 1 घंटा, 30 मिनिट